दीप्ती, दिल्ली मेट्रो , एक तरफ़ा प्यार और किडनैप !

0
779

हाल ही मैं एक चोकने वाली घटना हम सब के सामने है, स्नैपडील में काम करने वाली एक लड़की दीप्ती को पिछले हफ्ते बुधवार को गाजियाबाद के वैशाली मेट्रो स्टेशन से किडनैप कर लिया गया, ये किडनैप किया हरियाणा सोनीपत के देवेंदर और उनके 4 साथियों ने .

मामला एक तर्फे प्यार का है, देवेंदर ने दीप्ती को मेट्रो में देखा और उससे एक तरफ़ा प्यार में पड़ गया , और वोह काफी समय से दीप्ती का पीछा कर रहा था .

पुलिस ने गुनाहगारो को पकड़ लिया है और उनके पास से एक i10 कर को भी जब्त किया है .

इस किडनैप मैं दीप्ती को कोई भी नुकसान नही पहुचाया गया और वोह अब अपने परिवार के साथ है .

देवेंदर ने दीप्ती के इस किडनैप की साजिश शाहरुख़ खान की फिल्म डर को देख कर रची थी .

दीप्ती बिलकुल सही सलामत है और अब अपने परिवार के साथ है .

देवेंदर एक हिस्ट्रीशीटर है और उस पर पहले से भी कई अपराध दर्ज है. पुलिस देवेंदर को एक मनोरोगी बता रहे है .

36 घंटे दीप्ती गायब रही, नरेला रेल से किसी का फ़ोन ले के उसने अपने पापा को फ़ोन किया के पापा मैं ठीक हु.

अब कानून क्या सज़ा देता है एक गुनेह्गर को ये भी देखना होगा, क्यों गुनेह्गर कानून से बिना डरे इस तरह की घिनोनी हरकत कर जाते है, क्या अब उन्हें कानून का कोई डर नही..?

क्या अब समय आया गया है के सरकार बदल डाले कानून को, और इसे इतना सख्त बनाये के कोई भी इस तरह का गुनाह करने से पहले हजार बार सोचे, गुनाहगार तो गुनाह कर के चला जाता है पर क्या किसी ने सोचा है के उस परिवार पर क्या बीतती है जिस के साथ ये होता है .उस लड़की पर क्या बीती होगी, उस परिवार का क्या हाल हुआ होगा . कानून को जरुरत है एक कठोर फैसला लेने की जो आने वाले समय में एक मिसाल की तरह हो .

और जिस के बारे मैं सोच कर ही गुनेह्गारो के पसीने छूट जाये .

Comments

comments