अब चलेंगे जल्स्थल्चर एयरक्राफ्ट गंगा नदी में

0
177

केंद्र सरकर विचार कर रही है amphibious aircraft प्रपोजल का गंगा नदी पर वाराणसी और कोल्कता के बीच. और 111 waterways को डेवेलोप करने का प्रस्ताव है. नितिन गडकरी के अनुसार संसद ने हांमी भर दी है इस प्रस्ताव पर और पांच इनलैंड waterways को पहले चरण में गंगा और ब्रह्मपुत्र पर डेवेलोप किया जायेगा.

amphibious-aircraft-Reuters

जलमार्ग के द्वारा बांग्लादेश और म्यांमार को भी जोड़ने का प्रस्ताव है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा यह सस्ता और सुगम जरिया होगा आवाजावी का. 620 किलोमीटर फर्रखा पटना जलमार्ग 6 महीने में ही तेयार हो जायेगा.

A Light Amphibious Reconnaissance Craft (LARC) filled with US Sailors, Marines and Russian media departs the shores of a mock disaster area for a US Landing Craft Unit (LCU) during Exercise COOPERATION FROM THE SEA '96 near Vladivostok, Russia. The simulated disaster area was designed for Russian and US medical personnel and Marines to conduct joint relief efforts to a small community struck by natural disaster. The exercise is a joint venture between US and Russian naval forces designed to improve disaster-relief operations and to further understanding between the two nations.

इलेक्ट्रिक बुसेस, बाइक्स और कारो को भी लांच करने का प्रस्ताव है दो साल के भीतर जिससे की प्रयवरण की रक्षा की जा सके. यह lithium-ion बैटरीज का प्रयोग करेंगे जो की सत्तेलितेस और रॉकेट्स में इस्तेमाल की जाती है. इस तरह की एक बस पार्लियामेंट में प्लाई की जा रही है नितिन गडकरी ने बताया. उन्होंने गंगा नदी को पांच से के समय के अन्दर स्वच्छ करने का प्रधानमंत्री मोदी के वादे को पूरा करने की बात की.

रामेश्वरम से श्रीलंक के बीच अंडरग्राउंड सी टनल से यातयात को शुरू करने का भी प्रस्ताव है.

उन्होंने बतया की 5000 संस्थान स्तःपित किये जायेंगे जो ड्राइविंग लाइसेंस और पोल्ल्लुतिओं सर्टिफिकेट जारी करने का काम करेनेगे और जिस से एक लाख लोगो को रोज़गार मिलेंगा.

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here