मोकें; जो तैर सकते है मछली की भांति समुद्र में

0
364

हर कोई चाहता है पानी में मछली की तरह तैरना लेकिन बिना ऑक्सीजन सिलिंडर और डाइविंग साजो सामान के आप ये नहीं कर सकते. परन्तु Southeast Asia में रहने वाले मोकें जाति के बच्चे पानी में काफी देर तक सांस रोक कर और धुंधले समुद्री पानी में आसानी से देखकर मछली पकड़ने से लेकर सभी काम किसी डॉलफिन मछली जो की एक मनुष्यो की तरह मैमल है सांस रोक कर लम्बी डूबकी लगा लेते है. इनको Sea Gypsies भी कहा जाता है क्यूंकि यह जिप्सी की तरह विचरण करते रहते है, लेकिन इनकी जाति अब विलुप्त होती जा रही है. कुछ 2000-3000 ही रहे गये है ये. मोकें लोग को पाया जा सकता है अंडमान समद्र के टापूओ थाईलैंड के पशचिमी तट के पास.

moken0

मोकें बच्चे बचपन से ही तैरना सीख लेते है और मदद करते है डूबकी लगा कर शेल्ल्फिश और ईल्स जैसे अंडरवाटर जीवो को पकड़ने के लिए. ये लोग आसानी से पानी के अन्दर देख सकते है और सांस भी आम इंसान के मुकाबले दो दफा रोक सकते है. ऐसा नही है की म्युटेशन से यह कर पाते है बल्कि अभ्यास बचपन से करने पर इनको यह आसानी से आ जता है.

moken

एक स्टडी के अनुसार मोकें बच्चे अपनी आँख की पुतली को छोटा करके अपने देखने की शमता पानी के भीतर बढा लेते है. और दिल की धड़कन के रेट को भी छोटी कम कर लेते है सांस को पानी में रोकने के लिए. व्यस्क अपनी पानी में देखने की शक्ति खो देते है चुकी उनके आँखों के लेन्स कम लोच वाले हो जाते है समय के साथ.

परन्तु अब ये लोग लुप्त होने की कगार पर है. 2004 की सुनामी के बाद कम हुए रिसोर्सेज और आधुनिकरण रिसॉर्ट्स किये जाने के कारण इनका जीवन दुभर हो गया है.

स्त्रोत: दी गार्डियन और BBC.com

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here