मार्क अन्द्रीस्सें के अपत्तिजनक ट्वीट ने मचाया बवाल

0
114

मार्क अन्द्रीस्सें जो फेसबुक के बोर्ड में डायरेक्टर और अमेरिकन एन्तेर्प्रेनेउर है, तवीत कर अपना गुस्सा जाहिर किया TRAI के फैसले से जिसमे उन्होंने नेट नयूत्रलिटी को सही ठहराते हुए फेसबुक के फ्री बेसिक्स को नकार दिया. उनका तवीत जो की अपत्तिजनक था, भरतीये त्वित्तेरती को उकसाने का काम किया. वह श्याद इतने disappointed थे की उन्होंने लिख डाला की भारत अच्छा था आर्थिक रूप से ब्रिटिश राज में. मार्क ने लिखा, “Anti-colonialism has been catastrophic for the Indian people for decades. Why stop now,”

https://twitter.com/maheshmurthy/status/697290262427660289/photo/1?ref_src=twsrc%5Etfw

अन्द्रीस्सें ने बाद अपने इस ट्विटर को डिलीट भी कर दिया परन्तु भारतीये और कुछ सिलिकॉन वैली के लोगो ने ट्विटर पर उनकी खूब मजमत की.

https://twitter.com/pmarca/status/697284860881170433

https://twitter.com/pmarca/status/697291660577738752

ट्विटर पर डिस्कशन की शुरवात हुई मार्क के इस तवीत से;

https://twitter.com/pmarca/status/697226616812900352?ref_src=twsrc%5Etfw

परन्तु जब मार्क अन्द्रीस्सें ने फ्री बेसिक्स एफर्ट को कोलोनिअलिस्म से क्म्पयेर किया और भारतीयों को जिम्मेदार ठहरया फेसबुक की मदद न लेने से. वह भारत की कम गति से हुई प्रगति फ्रीडम के बाद ब्रिटिश रूल से, पर टिप्पणी कर रहे थे.

https://twitter.com/pmarca/status/697286737731563524?ref_src=twsrc%5Etfw

यह फेसबुक द्वारा दिया गया मेसेज नही था परन्तु यह दर्शाता है की फेसबुक फ्री बेसिक्स के जरिये अपनी मार्किट को बढ़ाना चाहता है नाकि वह एक नॉन-प्रॉफिट संस्था है जो दूसरो के भले के लिए सोचती है.

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here