गुफरान आज़म को कांगेस के पूर्व सांसद भी रह चुके है ने राहुल गाँधी के नेतृत्व श्रमता पर उठाया है बड़ा सवाल, कहा हम थक चुके है उनसे, कोई उन्हें पप्पू बोलता है , कोई मुन्ना कोई मंदबुद्धि बोल कर चला जाता है . इससे हमे शर्मिंदगी होती है .

हम सभी चाहते है के हमारा बच्चा जिंदगी में कुछ करे, डॉक्टर बने , इंजिनियर बने पर अब अगर वोह नही बन पा रहा है तो इसमें हम क्या कर सकते है, गुफरान आज़म ने कहा है के सोनिया जी ने राहुल को नेता बनने के लिए 10 साल का समय दिया, अब अगर वोह नेता नही बन पा रहे है, बोलना नही सीख पा रहे है, तो सोनिया को अपनी जिद छोड़ देनी चाहिए उन्हें नेता बना देने की.

गुफरान आज़म ने चिट्टी लिख सोनिया से अपना हाल ऐ दर्द सुनाया है , के अगर राहुल कुछ नही कर पा रहे तो उन्हें छोड़ कर हमे आगे बढ़ना चाहिए . कांग्रेस कंप्यूटर से नही चलती, कांग्रेस को पर्योगशाला बना के रख दिया है , NSUI को हर जगह से ख़त्म कर दिया है .

Comments

comments