बकरी हुई अरेस्ट और बेल पर छुटी

0
375

यह घटना छत्तीसगढ़ की है जहा एक बकरी को सीनियर बुरेअक्रेत के गार्डन में चरने के सजा के तोर पर बुक किया गया ऐसे चार्जेज पर जिसमे दो से पांच साल की सजा और फाईन भी हो सकता है. एक दिन बाद बकरी बेचारी को अपनी भूल के लिये bail मिल गयी.

जी हाँ बकरी के मालिक अब्दुल हस्सन, छत्तीसगढ़ कोरिया के रहने वाले है जो रायपुर से 350 किलोमीटर के दुरी पर है. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के माली की शीकायत पर बकरी को अन्द्दर किया गया और ये चार्जेज लगाये गए. बकरी रिपीट ओफ्फेंदर थी जो बार बार लोहे के गेट को कूद कर पार कर लेती थी. और माली ने कई बार चेतवानी भी थी परन्तु बकरी के कान पर झूँ तक न रेंगी. मजिस्ट्रेट साहब ने सीनियर पुलिस ऑफिस को कॉल करके इसकी कम्प्लेंट की और चार्जेज के अंतर्गत फूलो, सब्जिओ को नष्ट करने का भी आरोप लगया.

बकरी के मालिक हस्सन को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया फिर बकरी समेत bail पर रिहा कर दिया.

Comments

comments