रक्षा मंत्री की सजगता से हुई 3 billion डॉलर की बचत

0
278

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने इस शुक्रवार बतया की उन्हें US account जिसका इस्तेमाल रक्षा उपकरणों को खरीदने के लिए किया जता है सरकार द्वरा अमेरिकी सरकर से पेंटागन के द्वारा अमेरिकी कंपनियो से, में लगभग 3 billion डॉलर पड़े हुए मिले. उन्होंने बतया भारत US को पेमेंट कर रहा जबकि 3 billion डॉलर पड़े हुए थे इस अकाउंट में.

US Defence डिपार्टमेंट द्वारा चलने वाला यह अकाउंट हथियार खरीदने की लिए किया जता है. Foreign Military सेल्स यानि FMS प्रोग्राम ने अंतर्गत. इस अकाउंट के पैसो का US कंपनिया जैसे Lockheed Martin और Boeing से उपकरण खरीदने के लिया किया हटा है. परन्तु त्रुटिपूर्ण प्रबंधन के कारण यह पैसा एकत्र हो गया और इस पर कोई ब्याज भी नही मिल रहा था. इस तरह से उन्होंने इस साल के बजट के लिए इस में से पैसे निकल लिए.

इस अकाउंट में 17-18 billion डॉलर थे जिसमे 3 billion डॉलर ही बचे थे. इसमें सेव कुछ 6000 डॉलर खर्च भी हुए है हमारे कर्जो को पूरा करने के लिए फिर भी ७००-८०० million डॉलर की बचत हुई है.

उन्होंने ये भी कहा की भारतीये vendors के साथ payment टर्म्स को कडा करने से भी 300 करोड़ रुपए की बचत हुई है.
पर्रीकर ने यह भी बतया की इस साल से नये तरीके से डिफेन्स बजट को काल्चुलाये किउया जायेगा जिस से कई छुपे हुए खर्चे सामने दिखेंगे. इस से पारदशिता बढेगी.

Comments

comments