Tuesday, October 24, 2017
Home Spiritual

Spiritual

सरस्वती वंदना

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना। या ब्रह्माच्युत शंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा॥१॥ श्लोक अर्थ - जो विद्या की देवी भगवती सरस्वती कुन्द के फूल, चन्द्रमा, हिमराशि और मोती के हार की...

माँ काली ने की भूतो से रक्षा : पढ़े पूरी कहानी

।। जय माता दी ।। बात बहुत ही पुरानी है। उस समय ग्रामीण लोग अधिकतर एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए बैलगाड़ी आदि का उपयोग करते थे। कोई भी शुभ त्योहार हो, या कोई...

सप्ताह के इन 2 दिनों में कटवाएँगे बाल और नाख़ून तो बरसेगा इतना धन...

जाने सप्ताह में वोह कौन से 2 दिन है जिस  दिन हम बाल और नाखून कटवा सकते है ..!!   ज्योतिष के अनुसार यह तो हम सभी जानते है के मंगलवार - वीरवार  और शनिवार को...

नवरात्री के आठवे दिन करे माँ महागौरी की आराधना

माँ दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम महागौरी है। दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की उपासना का विधान है। इनकी शक्ति अमोघ और सद्यः फलदायिनी है। इनकी उपासना से भक्तों को सभी कल्मष धुल...

बृहस्पति देवता जी की आरती

बृहस्पति देवता जी की आरती जय बृहस्पति देवा, ऊँ जय बृहस्पति देवा । छि छिन भोग लगाऊँ, कदली फल मेवा ॥ तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी । जगतपिता जगदीश्वर, तुम सबके स्वामी ॥ चरणामृत निज निर्मल, सब पातक हर्ता...

भगवान श्री रामचन्द्रजी की आरती

भगवान श्री रामचन्द्रजी की आरती श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणं । नवकंज लोचन, कंजमुख, करकुंज, पदकंजारुणं॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणं । श्री राम श्री राम.... कंदर्प अगणित अमित छबि, नवनीलनीरद सुन्दरं । पट...

घर परिवार में अगर किसी को अत्यधिक क्रोध आता हो तो करे यह अचूक...

इस कलयुग में अगर इन्सान का कोई सबसे बड़ा शत्रु है तो वोह है उसका क्रोध, हालाकि किसी को क्रोध आने के के पीछे उसकी सेहत में विकार आना सबसे बड़ा कारण माना जाता...

श्री सरस्वती माता जी की आरती

श्री सरस्वती माता जी की आरती कज्जल पुरित लोचन भारे, स्तन युग शोभित मुक्त हारे | वीणा पुस्तक रंजित हस्ते, भगवती भारती देवी नमस्ते॥ जय सरस्वती माता ,जय जय हे सरस्वती माता | दगुण वैभव शालिनी ,त्रिभुवन विख्याता॥ जय...

क्या आप जानते है ‘लाल किताब’ का इतिहास ?

लाल किताब की उत्पत्ति को ले कर अलग अलग मान्यताये है जिनमे में एक के अनुसार - लाल किताब का ताल्लुक है रावण से, लंकापति रावण जिसने मर्यादा पुरोशोतम श्री राम के हाथो मृत्यु...

गांधारी के श्राप से हुआ था यदुकुल का विनाश !! भगवान श्री कृष्ण ने...

कहा जाता है के महाभारत के युद्ध के पश्चात् सान्तवना देने के उद्देश्य से भगवान श्री कृष्णचन्द्र जी गांधारी के पास गये. गांधारी अपने सौ पुत्रों के मृत्यु के शोक में अत्यंत व्याकुल थी. भगवान श्री...

LATEST NEWS

MUST READ

error: Content is protected !!