Thursday, August 24, 2017

जब युद्ध हुआ श्रीराम और भगवन शिव के बीच

प्रभु की लीला प्रभु ही जाने रावन पर विजय प्राप्त कर जब श्रीराम ने अश्वमेध यघ का आयोजन किया हुआ था तब गलती से देवपुर के राजा वीरमणि के पुत्र रुक्मांगद ने यज्ञ के घोड़े को बंदी...

#चमत्कार – मंदिर में ‘माँ काली’ की ‘आंखें’ विडियो बना रहे शख्स की तरफ...

हम इस विडियो की पुष्टि नहीं करते, यह विडियो किसी की शरारत भी हो सकता है.    पर ....अगर यह सच है तो यह चमत्कार है  ....   इस विडियो को सोशल मीडिया में अपलोड करने वाले इन्सान...

कौवा ; एक शापित और अशुभ जीव !! जाने पूरी कहानी . . ....

काले कौवे को ले कर हमारे समाज में तरह तरह के कहानिया परचलित है, पर इस जीव को अच्छी नज़र से नही देखा जाता. दिखने में बदसूरत और अपनी कर्कश आवाज़ के कारण यह...

गांधारी के श्राप से हुआ था यदुकुल का विनाश !! भगवान श्री कृष्ण ने...

कहा जाता है के महाभारत के युद्ध के पश्चात् सान्तवना देने के उद्देश्य से भगवान श्री कृष्णचन्द्र जी गांधारी के पास गये. गांधारी अपने सौ पुत्रों के मृत्यु के शोक में अत्यंत व्याकुल थी. भगवान श्री...

काली माता जी की आरती

काली माता जी की आरती मंगल की सेवा सुन मेरी देवा ,हाथ जोड तेरे द्वार खडे। पान सुपारी ध्वजा नारियल ले ज्वाला तेरी भेट धरेसुन।।1।। जगदम्बे न कर विलम्बे, संतन के भडांर भरे। सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली, जै...

नवरात्री के सातवे दिन करे माँ कालरात्रि की आराधना

माँ दुर्गाजी की सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती हैं। दुर्गापूजा के सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है। इस दिन साधक का मन 'सहस्रार' चक्र में स्थित रहता है।...

तंत्र-साधना से जुड़े रहस्य यहा छिपे हैं, जाने राज !!

प्राचीन काल से लेकर अब तक भारतीय समाज तंत्र विद्या, काली शक्तियों और जादू-टोने जैसी विधाओं में बहुत विश्वास करता है. तर्क विज्ञान का समाज में अपनी पहुंच बना लेने के बावजूद आज भी कई...

श्री गणेश जी की आरती

जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा । माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥ एक दंत दयावंत, चार भुजाधारी । माथे पर तिलक सोहे, मूसे की सवारी ॥ पान चड़ें, फूल चड़ें और चड़ें मेवा । लडुअन को भोग...

जानिए और जपिए भगवान शिव के 108 नाम

भगवान शिव के 108 नाम ---- शिव - कल्याण स्वरूप महेश्वर - माया के अधीश्वर शम्भू - आनंद स्स्वरूप वाले पिनाकी - पिनाक धनुष धारण करने वाले शशिशेखर - सिर पर चंद्रमा धारण करने वाले वामदेव - अत्यंत सुंदर स्वरूप वाले विरूपाक्ष...

उर्वशी के श्राप से बने थे अर्जुन नपुंसक, पढ़े पूरी कथा !!

एक श्राप जो बन गया था वरदान ... उस दिन अर्जुन के गुरु और मित्र चित्रसेन अर्जुन को नृत्य और संगीत की दीक्षा दे रहे थे के तभी वह देवलोक की अप्सरा उर्वशी का आगमन...