गूगल सर्च के मुखिया अमित सिंघल ने गूगल छोड़ने का ऐलान किया

0
294

15 साल के लम्बे समय और गूगल सर्च को इस बुलंदियों पर पहुचाने वाले अमित सिंघल ने कल गूगल को छोड़ने की अनाउंसमेंट की. वो और उनकी टीम है जिम्मेवार गूगल सर्च के अलोग्रिथ्म में आये चेंजेस का और उसके सीमलेस परफॉरमेंस का जिसको करोरो users इस्तमाल करते है. वह सीनियर वाईस प्रेसिडेंट और गूगल फेलो है. गूगल फेलो सिर्फ उनके ख़ास एंजीनीर्स ही होते है. गूगल के नये सर्च का जो की इंस्टेंट, एक्यूरेट और रिलेवेंट होता है इसका श्रेय इनको और इनकी टीम को जाता है.

देंनी सुल्लिवन सर्च इंजन ब्लॉग के संस्थापक ने अमित की विधाई को जॉन इवे के साथ कम्रपएर किया जिन्होने एप्पल छोडा था कुछ समय पहले. अमित का जन्म भारत में झाँसी में हुआ था जो की एक साधारण सी टाउन है. सिंघल के अनुसार उन्होंने अधिकांश समय हिमालय के फूटहील्ल्स में बीत्या है. उन्होंने Bachelor of Science computer science में रूरकी से की थी 1989 में. गत्पस्चायत वह US चले गए उच शिक्षा के लिये जहा उन्होंने computer science में Minnesota यूनिवर्सिटी में सिक्षा प्रताप की और उसके बाद में Cornell यूनिवर्सिटी से Phd हांसिल की. कोर्नेल में उन्होंने प्रोफेसर गरद सल्तों से शिक्षा ली जिन्हें वह IR (information retrieval) का फाउंडर मानते है.

अमित सिंघल ने AT&T की Bell Labs में काम किया गूगल में ज्वाइन करने से पहले. उनके मित्र कृष्णा भगत ने उन्हें प्रेरित किया गूगल ज्वाइन करने के लिये जो गूगल news के कर्तादर्ता थे. अमित ही थे जिन्होंने लार्री पेज द्वारा लिखा गूगल सर्च अलोग्रिथ्म को दुबारा लिखा था. अमित बड़े फैन है स्टार ट्रेक यूनिवर्स के और उसमे प्रदर्शित वर्चुअल असिस्टेंट जो वोइस कमांड समझता है. सिंघल ने ही सर्च without सर्चिंग के आधार पर गूगल नाउ जो की एक फीचर है एंड्राइड फ़ोन में जिसमे users को जानकारी मिलती है कुछ बिना सर्च किये.


Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here