दुआओ में असर होता है

दुआओ में याद रखना

0
907
dua, me, asar, neki, frishta, kismat, bhagwan, दुआओ, असर

दुआओ में असर होता है …!

 

दुआ होती है क्या । किसे मिलती है दुआ । कौन देता है दुआ ।कोई क्यों देता है दुआ ।

दुआ एक आशीर्वाद है चाहे वह एक बड़े ने दिया हो या किसी छोटे ने, दुआ एक नेकी है जो हर किसी को हासिल नही होती, दुआ एक ऐसा वरदान है जो बड़े से बड़ी आपदा को टाल देता है, तूफानों का रास्ता बदल देती है दुआ, मौत से आँखे मिला के उसे हराने का होसला रखती है दुआ, आसमान का सीना चीर किस्मत की किताब दुबारा लिख सकती है दुआ । दुआ वोह है मांगने से नही मिलती ये उसे ही मिलती है जो इस के काबिल हो ।

दुआ की ताकत की ना कोई हद है ना सीमा, ये वह वरदान है जिसे इंसान अपनी नेकी से कमाता है, अपनी इंसानियत की कसोटी पे खरा उतर के कमाता है, इसे कमाना हर किसी के बस की बात नही इस कलयुगी संसार में ।

दुआ पाने के इंसान को अपने कर्म बदलने होंगे, बुराई का रास्ता छोड सच की रह पर चलना होगा, निस्वार्थ हर जरूरतमंद की मदद के लिए जो हाथ उठ खड़ा होगा वही दुआ के क़ाबिल है ।

सच का साथ, बुराई को लात । बस इसी रह पर चल, कल की चिंता छोड़, मुस्करा, खुशिया बाटता चल, बिना रुके, बिना थके, आगे बढ़, आगे बढ़, आगे बढ़ । रस्ते में आने वाली हर कसोटी पर बहादुरी दिखा, लड़, प्रबल बन, लड़ – जीत । आगे बढ़ ।
हर बुराई छोड भगवन के दिखाए सच के रस्ते पर चल, बिना फल की सोच बस कर्म किये चल । फिर उस कमजोर इंसान के दिल से जो सच्ची दुआ निकलेगी वह बदल के रख देगी तेरा भाग्य ।

वोह कहते है ‘दवा से ज्यादा दुआ में असर होता है’ ।

बस देरी है तो खुद को बदलने की ।

Comments

comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here